Tag: hindi poems

Guest Post – ज़िन्दगी By Mohit

SHORT STORIES – POEMS – GUEST POSTS – TRAVELOGUES – MIDNIGHT MUSING – YOUR STORY – MORNING MOTIVATION ज़िन्दगी By Mohit   रोज़ रोते हुए कहती है मुझसे मेरी ये ज़िन्दगी, एक इंसान की खातिर मुझे यूँ बर्बाद तो ना कर, यूँ जिंदा रहने की कोई एक वजह […]

लम्हें (Lamhe) By Mohit

लम्हें (Lamhe) By Mohit

जलाया था मैंने जिन कागज़ के टुकड़ों को,
क्यूँ वही टुकड़े यादों के निशान हो गये,
किये थे जो मुकाम हासिल ऊँचाइयों के,
आज क्यों वो ही मुकाम अनजाने हो गये,

Click to read more